fbpx

Angular Js kya hai ? kaise kaam krta hai.

हलो दोस्तों अपने सिंगल पेज एप्लीकेशन के बारे में में तो सुना ही होगा । दोस्तों इस पेज का फायदा ये होता है की अगर आपको किसी एक पेज से किसी सेक्शन को load  करना है तो आपको सारा पेज reload  करने की जरूरत नहीं होती है

आपको सिर्फ वही सेक्शन रीलोड हो जायेगा बाकि का पेज वैसे का वैसे ही रहेगा ।

दोस्तों इन एप्लीकेशन को Angular  की मदद से बनाया जाता है। तो आज हम जानेगे Angular kya hai kaise kaam krta है ? और इसको फ्री में कैसे सीखा जा सकता है।

Introduction Angular:

दोस्तों Angular light weight  जावास्क्रिप्ट फ्रेमवर्क है जिसे ज्यादर सिंगल पेज एप्लीकेशन को बनाने में इस्तमाल किया जाता है और इसे google  के द्वारा maintained  किया जाता है

इसको 2009 में गूगल में काम कर रहे Misko hevery  ने अपने काम को आसान करने के लिए बनाया था दोस्तों यह एक open source फ्रेमवर्क है

इसका इस्तमाल करने के लिए न तो किसी की अनुमति की और ना ही किसी को पैसे देने की जरूरत होती है इसी कारन इसे open source फ्रेमवर्क कहा जाता है

दोस्तों क्युकी यह एक जावास्क्रिप्ट फ्रेमवर्क है इसलिए इसको एक वेब पेज में जोड़ने के लिए <script> tag  का इस्तमाल किया जाता है

इस फ्रेमवर्क के अंदर Directives, expression  और filters जैसे बहुत से components  होते है आज के टाइम में इस तरह के फ्रेमवर्क को बड़ी कम्पनिया द्वारा इस्तमाल किया जाता है जैसे-google  microsoft और IBM 

अगर आप प्रोगरामिंग करना चाहते है तो आपको ANGULAR  सिखने से पहले HTML CSS JAVASCRIPT सिख लेनी चाहिए । । बहुत से डेवलपर इसका इस्तमाल भखूबी करते है

डेवलपर्स इसका ज्यादातर इस्तमाल सिंगल पेज एप्लीकेशन में आने वाली चुनौती का सामना करने के लिए करते है सिंगल पेज एप्लीकेशन में आपको पेज को REFRESH  करते ही आपको आपका content  उसी पेज पर मिल जायेगा।

आप एक पेज से दूसरे पेज पर जा सकते है आपका Url भी change  होगा मगर आपका पेज reload  नहीं होगा।

History:

Angular kya hota hai kaise kaam krta hai? Kaise sikhe in hindi

Angular javascript का leight Weight फ्रेमवर्क है जिसे 2009 में Google  में काम कर रहे MIsko Hevery  और Adam Abroans ने मिलकर Angular  को लांच किया था।

क्युकी ये इस्तमाल में बहुत ही ज्यादा आसान था इसलिए इसकी लिकप्रियता बहुत ही ज्यादा बढ़ गयी । बहुत जल्द छोटी बड़ी कम्पनिया इसका इस्तमाल करने लगी ।

इसकी कुछ कमियों को दूर करते हुए इसके कुछ नए अपडेट निकाले गए जिन्हे इससे भी ज्यादा लोकप्रियता मिली।

Angular  का पहले अपडेट ANgular Js के नाम से आया था और इसका दूसरा अपडेट ANgular 2 के नाम से आया था । जो की angular js का rewrite  था।

Angular  की मदद से डेवलपर को अपने apps  और Application  बनाने में बहुत ही ज्यादा सुविदा हुई । इसका इस्तमाल MVC  द्वारा आधारित वेब एप्लीकेशन को बनाने में किया जाता था ।

लेकिन अब ये पूर्ण रूप से open source powerfull cleint side  जावास्क्रिप्ट फ्रेमवर्क है ।

Read also;

Css3 Kya hai ? Kyu istmaal ki jaati hai in hindi

Reddit kya hai. Iska istmaal kaise kre in hindi.

RAM क्या होती है ? और कितने प्रकार की होती है जानिए हिंदी में

Angular kya hai (Benifits or losses)

तो दोस्तों आज के टाइम में Angular  की लोकप्रियता बहुत ही ज्यादा बढ़ती जा रही है दोस्तों Google  और IBM  जैसी कंपनी भी इसका इस्तमाल कर रही है

Time saving:

दोस्तों Angular ko Time Saving भी कहा जाता है क्युकी जिन apps और application  को create  करने के लिए एक devloper  को बहुत से links का सामना करना पड़ता था

अब इसके मार्किट में आते ही ये काम भी आसान हो गया और अब modern webiste और Apps को एक devloper  बहुत ही आसानी से बना सकता है

Page management:

दोस्तों अगर आप एक सिंगल पेज एप्लीकेशन बना रहे है तो आपके पेज का maintaince angular करता है आप आसानी से एक पेज से दूसरे पेज पर जा सकते है

और आपका url भी बदलेगा और content  भी बदलेगा मगर आपका पेज reload  नहीं होगा। आप इस तरह के उदाहरण Gmail  और Youtube  जैसी एप्लीकेशन में देख सकते है

Attractive Website:

तो Angular  की मदद से एक डवलपर अपनी वेबसाइट को बहुत ही ज्यादा आकर्षक और सुंदर बना सकता है उसके डेटाबेस के डाटा पर एक डेवलपर का कण्ट्रोल होता है वो उसे अपनी हिसाब से control कर पाता है

Losses:

दोस्तों इस फ्रेमवर्क के फायदे होने के साथ साथ कुछ नुक्सान भी है जैसे यह फ्रेमवर्क पूर्ण रूप से जैवसक्रित पर आधारित है अगर ये इसे अस्वीकार करता है

तो इसका इस्तमाल करना मुश्किल हो जायेगा और अगर ये पेज को लेने से अस्वीकार करता है तो वेब पेज पर basic  के अलावा कुछ भी नहीं दिखाई देगा।

और इसका इस्तमाल करने के लिए आपको जावास्क्रिप्ट की तरह ही <script> tag  का इस्तमाल किया जाता है

Angular framework जावास्क्रिप्ट पर आधारित होता है इसलिए इसके instruction  के लिए जावास्क्रिप्ट का ज्ञान होना बेहद आसान है

Kya sikha?

तो दोस्तों आज के पोस्ट में हमने जाना की Angular js क्या है इसको किसने बनाया था और क्यों बनाया था ।

ये फ्रेमवर्क हमारे किस कार्य को आसान बनता है हम उम्मीद करते है की आप जिस जानकारी को पाने के लिए हमारी इस पोस्ट पर आये है वो आपको जरूर मिल गयी होगी।

अगर आपको पोस्ट में जानकरी अछि लगी हो तो यह पोस्ट आप अपने दोस्तों के साथ जरूर share  करे क्युकी ज्ञान बाटने से बढ़ता है

अगर आपको हमारी इस पोस्ट में कही भी कुछ भी गलती नज़र आई हो या कही कोई कमी महसूस हुई हो तो आप हमे अपना सुझाव दे सकते है और अगर आपको अपनी कोई भी जानकरी लोगो तक पहुचानी है

तो एक पोस्ट लिख कर हमारी gmail  पर बता सकते है अगर हमे आपकी पोस्ट अछि लगी होगी तो हम आपकी पोस्ट को लोगो तक जरूर पहुचायेंगे ।

Leave a comment

CoinswitchKuber app Kya hai. Coinswitch kuber in hindi 2022 ? Terra Luna Coin ki Binance exchange pr hui vaapsi. Shiba Inu Coin ne le Terra Luna coin ki jgah ? NFT sell purchase krne ke liye best website ? Terra coin mein girvat ka sabse bdaa karan 2022 ?
CoinswitchKuber app Kya hai. Coinswitch kuber in hindi 2022 ? Terra Luna Coin ki Binance exchange pr hui vaapsi. Shiba Inu Coin ne le Terra Luna coin ki jgah ? NFT sell purchase krne ke liye best website ? Terra coin mein girvat ka sabse bdaa karan 2022 ?