RAM क्या होती है ? और कितने प्रकार की होती है जानिए हिंदी में

जब भी आप कोई नया मोबाइल या लैपटॉप खरीदते होंगे तो अपने Ram  का नाम तो जरूर सुना होगा। आज की पोस्ट में हम इसी के बार में बात करने वाले है। इसे main memory भी कहा जाता है

RAM  और CPU द्वारा वर्तमान में किये जाने वाले कार्यो का डाटा इसमें स्टोर किया जाता है। किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में इसका एहम काम होता है क्युकी इसी की मदद से आपके द्वारा काम किये हुआ डाटा इसमें स्टोर होता है जब आप चाहे इस डाटा को निकाल कर देख सकते है।

Introduction RAM ?

Ram  की फुल फॉर्म Random access Memory  होता है इसका अलग अलग डिवाइस में अलग अलग काम होता है इस पोस्ट में Ram  को हम बहुत ही आसानी से समझने वाले है जब भी आप किसी फाइल को डावनलोड करते है किसी भी डिवाइस में तो वो फाइल internal memory में सेव होती है न की Ram  में।

जब आप किसी भी अप्प या सॉफ्टवेयर को अपने डिवाइस में रन करते हो तो उस अप्प को सही से और अछि स्पीड से चलाना ram  का काम होता है। इसको एक उदाहरण के जरिये से समझते है,

Example:

मान लीजिये की आप किसी काम के लिए एक टेबल पर बैठे है आपको आपके काम के लिए एक फाइल की जरूरत पड़ती है जो आप अपनी टेबल के ड्रॉवर से निकाल लेते हो। एक फाइल पर काम करने के लिए आपको एक छोटी टेबल बहुत है।

लेकिन अगर आपको एक साथ बहुत सी फाइल्स पर काम करने पड़ गया तो आपको एक बड़ी टेबल की आवश्यकता पड़ सकती है। क्युकी उन सभी फाइल्स को मैनेज करना उस टेबल के का काम होता है। अब इसी प्रकार से Ram  काम करती है

मान लीजिये अगर आप MS Paint में काम कर रहे है और अपने 2 या 3 फाइल को बना दिया है और इसी के साथ में आप किसी और एप्लीकेशन पर भी काम कर रहे है और अपने अभी तक अपनी फाइल्स को सेव नहीं किया है तो वह सब RAM  में सेव होती है।

Ram  के द्वारा ही संचालित की जाती है। अगर अचानक से किसी भी ताकिनी प्रॉब्लम के कारण से आपके कंप्यूटर की पावर ऑफ हो जाये तो आपके द्वारा किया गया कंप्यूटर पर सारा काम waste हो जायेगा।

इसीलिए कहते है की जब हम कंप्यूटर पर किसी बड़े प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हो तो हमे बिच बिच में अपनी फाइल्स को सेव करते रहना चाहिए।

अगर आप बिच- बिच में अपनी फाइल्स को सेव नहीं करते हो तो आप UPS  का इस्तमाल कर सकते हो। जो लाइट जाने के बाद में भी आपके कंप्यूटर की पावर को on  रखता है।

CPU और RAM द्वारा किया जाने वाले कार्य का डाटा RAM के अंदर स्टोर होता है। और जब आपके डिवाइस की पावर ऑफ हो जाती है तो आपका सारा डाटा भी वह से ख़त्म हो जाता है।

Types Of RAM

ram

तो दोस्तों आपको ऊपर पता तो चल ही गया होगा की RAM आखिर होती क्या है और यह आपके कंप्यूटर में कैसे काम करती है। RAM दो प्रकार की होती है जिनका वर्णन निचे अछि तरह से किया गया है।

1. SRAM RAM

SRAM का पूरा नाम Static Random access memory  है जिसे Cach memory भी कहा जाता है। क्युकी यह Ram  भी Votalie memory होती है इसलिए पावर के on  रहने तक ही इसमें डाटा सुरक्षित रहता है लेकिन पावर के ऑफ होने पर इसका डाटा अपने आप डिलीट हो जाता है

लेकिन पावर के on  रहने पर यह डाटा को फ़ास्ट एक्सेस करती है क्युकी SRAM को flip-flop से मिलकर बनाया जाता है इसलिए इसको बार – बार refresh  करने की जरूरत नहीं पड़ती है।

2. DRAM RAM

DRAM का पूरा नाम Dynamic Random Access memory  होता है यह RAM पहली वाली की बिलकुल विपरीत होती है यह RAM प्रति सेकंड के हिसाब से हजारो बार refresh  की जाती है लेकिन इसमें डाटा को स्टोर किया जा सकता है

कम्प्यूटर्स में मुख्य रूप से इसी RAM को इस्तमाल किया जाता है क्युकी इसमें से डाटा को randomly  तरिके से प्राप्त किया जाता है इसमें नया डाटा अपने आप स्टोर हो जाता है और आज के समय में बहुत से devices  में इस ram  का इस्तमाल किया जाता है क्युकी यह RAM पहली वाली RAM की अपेक्षा बहुत ही ज्यादा सस्ती होती है और उससे ज्यादा फायदेमंद होती है।

Read also:

Rom kitne Type ki hoti hai full information in hindi.

Signal app kya hai. Best feature kaise istmaal kre.

Ajax kya hota hai Kaise istmaal kre in hindi

Advantage OF RAM

अब तक आप RAM के बारे में सब कुछ जान चुके होंगे तो चलिए जानते है अब RAM के कुछ Advantage  के बारे में जानते है।

. RAM को कंप्यूटर की main memory भी माना जाता है

. RAM डाटा को बहुत ही जल्दी से एक्सेस करती है

. डिवाइस में पावर के on  रहने पर ही इसमें डाटा स्टोर रहता है पावर के ऑफ हो जाने के बाद में इसका डाटा खुद ही डिलीट हो जाता है

. RAM को volatile memory भी कहा जाता है।

. RAM की स्पीड सेकंडरी मेमोरी की तुलना में काफी ज्यादा होती है लेकिन इसकी स्टोरेज काफी काम होती है

. सभी डिवाइस में RAM के द्वारा ही किसी भी सॉफ्टवेयर या अप्प को रन किया जाता है

. RAM को volaite memory भी कहा जाता है।

. इस मेमोरी को अन्य मेमोरी की तुलना में बहुत ही ज्यादा महंगा बताया जाता है।

Conclusion

आज की पोस्ट में हमने RAM के बारे में चर्चा की यह क्या होती है और कैसे काम करती है। तो दोस्तों हम उम्मीद करते है की आप जिस जानकारी की खोज इंटरनेट पर कर रहे थे वो हमारी पोस्ट को पड़ने से मिल चुकी है।

अगर फिर भी आपको कोई सवाल पूछना है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हो। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हो। और हमे सोशल मीडिया पर फॉलो करके आप हमारा मनोबल बड़ा सकते है।

दोस्तों हम जल्द ही बहुत ही अप्प्स के rewiew  शेयर करने वाले है बहुत ही बढ़िया बढ़िया आप आपकी फील्ड से सम्बंदित अप्प्स भी हो सकते है।

अगर आप आने वाले पोस्ट को मिस नहीं करना चाहते तो अभी हमारी सदस्य्ता ले सकते है।

Leave a comment

FTX के दिवालिया की खबर से Market में कोहराम Crypto ने इस सक्स को कर दिया कंगाल Binance के 22.82 करोड़ को ED ने फ्रिज किया What is ApeCoin in hindi ? Shiba Inu DogeCoin से 30% ऊपर