IPO की फुल फॉर्म Initial Public Offer है

ज़ब कंपनी अपने सामान्य stock या share को जनता के लिए जारी करती है तो उसे IPO कहा जाता है  

आईपीओ के बाद कंपनी के shares की खरीद बाजार मे हो पाती है

आईपीओ को लॉन्च करने का मकशद फंडिंग इकट्ठा करना होता है ताकि कंपनी को और grow किया जा सके 

आईपीओ ज्यादातर छोटी और नई कंपनियों के द्वारा लॉन्च किया जाता है  

ताकि कंपनी अपने व्यापार को और भी ज्यादा बढ़ा सके लेकिन कई बार निजी कंपनियों के द्वारा भी आईपीओ लॉन्च किया जाता है  

ताकि वह अपना कारोबार सार्वजनिक बाजार मे कर सके. 

आईपीओ को लॉन्च करने से पहले उस कंपनी को अपने सभी डाक्यूमेंट्स को SEBI को जमा करवाने होते है  

जब SEBI सभी डाक्यूमेंट्स को verify कर कंपनी को आईपीओ लॉन्च करने की अनुमति दे देती है  

तो कंपनी बिना किसी परेशानी के आईपीओ को लॉन्च कर सकती है 

Click For More 

Click For More