fbpx

Initial Coin Offering (ICO) Kya hai ? Kaise kaam krta hai 2022

आज क्रिप्टोकरंसी बहुत से लोगों को दिन प्रतिदिन करोड़पति बनाती जा रही है इसी वजह से लोगों की रूचि क्रिप्टोकरंसी में बढ़ती जा रही है अगर हम भारत के आंकड़े देखें तो लगभग भारत में 10 करोड से भी ज्यादा लोग क्रिप्टोकरंसी में अपने पैसे को इन्वेस्ट करते हैं

क्रिप्टोकरंसी से जुड़ा एक शब्द ICO भी आजकल बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय हो रहा है क्योंकि बहुत से लोग अपनी खुद की क्रिप्टो करेंसी लांच करना चाहते हैं

आज की पोस्ट में हम जानेंगे ICO क्या है और कैसे आप इसकी मदद से क्रिप्टो मार्केट में अपना कदम रख सकते हैं अगर आप भी ICO के बारे में जानना चाहते हैं तो पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ना

INITIAL COIN OFFERING Kya hai ?

ICO kya hai. kaise istmaal kiya jata hai;. ICO IPO mein kya difference hai janiye sampuran jaankri hindi mein by securehindi.
ICO kya hai ?

Initial Coin Offering (ICO) की मदद से आप अपने क्रिप्टो जर्नी शुरू कर सकते हैं यह एक जरिया है जिसकी मदद से आप एक स्टार्टअप या फिर क्रिप्टोकरंसी स्टार्टअप पब्लिक फंड से पैसा इकट्ठा कर सकते हैं

जब किसी भी कंपनी के द्वारा ICO लॉन्च किया जाता है तो वह पब्लिक के साथ एक वाइट पेपर शेयर करते हैं जिसके अंदर वह अपने Coins की जानकारी शेयर करते हैं वह कितने Coins लांच करने वाले हैं और वह मार्केट में कितनी सप्लाई करेंगे वह फ्यूचर में किस टेक्नोलॉजी पर काम करने वाले हैं उनके बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी वह उस वाइट पेपर में शेयर करते हैं

जिन इन्वेस्टर को कंपनी द्वारा लांच किए गए ICO में दिलचस्पी होती है वह उन ICO मे निवेश करते हैं निवेशक जितने पैसे निवेश करता है कंपनी उसे उसके बदले में अपने डिजिटल टोकन देती है

लेकिन अगर कंपनी को इतने पैसे नहीं मिलते जितने उसने ICO के जरिए इकट्ठे करने थे तो कंपनी पब्लिक को उसका पैसा वापस कर देती हैं उस ICO को असफल माना जाता है

चलिए ICO को एक उदाहरण के साथ अच्छे से समझते हैं

Read Also :

Shiba inu in metaverse with Shiberse 2022 ?

एथेरियम जो आज के समय में दुनिया की दूसरे नंबर की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरंसी बन चुकी है एथेरियम टोकन को भी ICO के जरिए ही लांच किया गया था ऐसा कहा जाता है कि एथेरियम टोकन के लिए आईपीओ के जरिए बहुत ही भारी मात्रा में पब्लिक से फंडिंग उठाई गई थी एथेरियम को जब ICO के जरिए लांच किया गया था तब एक एथेरियम की कीमत लगभग ₹24 के बराबर थी लेकिन आज के समय में एथेरियम की कीमत ₹200000 से भी ज्यादा है और समय के साथ-साथ इसकी कीमत बढ़ती जा रही है

ICO के जरिए सबसे पहले मास्टर कॉइन Token को लॉन्च किया गया था

ICO Kaise kaam krta hai ?

जब भी कोई कंपनी या कोई क्रिएशन अपनी Token लांच करना चाहती है तो उन्हें आम जनता से फंडिंग इकट्ठा करनी होती है जिसे ICO कहा जाता है

ICO लॉन्च करने से पहले पब्लिक के साथ एक वाइट पेपर शेयर किया जाता है जिसके अंदर टोकन या Coins को लेकर जानकारी दी जाती है कि यह Token किस टेक्नोलॉजी पर काम करेगी और मार्केट में अपने सप्लाई कहां-कहां पर करेगी मार्केट में अपने किस हिसाब से कितने टोकन रिलीज करेंगे इन सब जानकारी को वाइट पेपर में लिखा जाता है और पब्लिक के साथ शेयर किया जाता है

जैसे शेयर मार्केट में IPO को लॉन्च किया जाता है IPO के द्वारा इकट्ठा की गई फंडिंग से कंपनी को मार्केट में और बढ़ाया और ऊंचाइयों तक ले जाया जाता है उसी प्रकार से ICO काम करता है ICO के द्वारा प्राप्त token को आप एक दूसरे के साथ Sell और Purchase भी kar सकते हो

अगर आप चाहे तो किसी भी टोकन को लंबे समय के लिए होल्ड करके बी रख सकते हैं जिस प्रकार से उस टोकन का मूल बढ़ता जाएगा उस प्रकार से भविष्य में आप का फायदा होता जाएगा

लेकिन जिस प्रकार से आपको कंपनी के शेयर खरीदने से एक कंपनी में हिस्सेदारी मिल जाती है आपको किसी टोकन को खरीदने से उस टोकन में हिस्सेदारी नहीं दी जाती आप अपने काम के लिए उस टोकन का सिर्फ इस्तेमाल कर सकते हैं

आपको बता दें कि किसी भी टोकन को बनाना बहुत ही आसान है आप किसी भी ब्लॉकचेन पर अपने टोकन को बना सकते हैं ज्यादातर टोकन Etherium ब्लॉकचेन पर बनाए जाते हैं

ऊपर आपने ICO के बारे में जाना अब हम ICO के प्रकार के बारे में जानेंगे आमतौर पर ICO दो प्रकार के होते हैं

Private ICO

जैसे कि आपको नाम से ही पता चल रहा है इस तरह के ICO में केवल बड़े पैमाने पर व्यापार करने वाले निवेशक ही भाग लेते हैं जो निवेशक अपने Assets में करोड़ों रुपए इन्वेस्ट करते हैं

Public ICO

इस तरह के ICO में हर कोई भाग ले सकता है इसके जरिए बहुत सारे लोगों फंडिंग उठाई जाती है और टोकन की लोकप्रियता भी बढ़ाई जाती ह

Difference Between ICO and IPO ?

बहुत से देशों में क्रिप्टोकरंसी पर Ban लगाया जा रहा है वहीं बहुत से लोग क्रिप्टोकरंसी की मदद से करोड़पति भी बन रहे हैं लेकिन क्रिप्टो मार्केट में ICO एक नया जरिया बन चुका है पब्लिक से फंड उठाने का लेकिन बहुत से लोगों को इससे अच्छे से समझना होगा ICO और IPO में बहुत ही ज्यादा अंतर है ICO को अच्छे से समझने के लिए आपको इन दोनों के बीच के अंतर को समझना पड़ेगा

IPO Explain :

आईपीओ को लॉन्च करने के लिए कंपनियों को अपना काफी सालों का डाटा पब्लिक के सामने शेयर करना पड़ता है कंपनी को यह बताना पड़ता है कि वह इतने साल से मार्केट में बिजनेस कर रही है और उनको अपने बिजनेस को आगे ले जाने के लिए इतने फंड की जरूरत होती है

आईपीओ लाने के लिए कंपनी को अपने दो से 3 साल के डाटा को पब्लिक के सामने शेयर करना पड़ता है उनको बताना पड़ता है कि उनके पास कितना कर्ज है और कितना मुनाफा उनको यह भी बताना पड़ता है कि वह पब्लिक से उठाए गए फंड को कहा और कितना इस्तेमाल करने वाले हैं

किसी भी आईपीओ को लाने के लिए वकील और कानूनी कार्रवाई की जरूरत पड़ती है इसमें कंपनी को अपने काफी सालों का डाटा मौजूद कराना पड़ता है

Read Also : Crypto / Shares Pr Kitna tax lgta hai.

ICO Explain :

वहीं दूसरी ओर आईपीओ लाने के लिए आपको किसी भी प्रकार की कोई कानूनी कार्यवाही नहीं करनी पड़ती इस पर किसी भी एक इंसान का कोई अधिकार नहीं होता इसे कोई भी बच्चा या बड़ा ला सकता है

आईसीयू को लाने के लिए किसी भी कंपनी का कोई भी डाटा नहीं दिखाना पड़ता आईसीयू सिर्फ एक आइडिया पर आधारित होता है उसी आईडिया के आधार पर लोगों से फंड इकट्ठा किया जाता है

आईसीयू को लाने के लिए सिर्फ एक वाइट पेपर होता है जिसके अंदर उस आइडिया के बारे में लिखा होता है जिस पर टोकन काम करने वाले हैं और आइडिया की महत्वपूर्ण जानकारी उसी वाइट पेपर के अंदर होती हैं

Invest In any Crypto With Rs. 100 ?

अगर आप किसी भी क्रिप्टोकरंसी में इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो आप हमारे दिए गए लिंक पर क्लिक करके कॉइनस्विच विद कुबेर एप्लीकेशन पर अपना अकाउंट बना सकते हैं अगर आप हमारे लिंक से अपना अकाउंट बनाते हैं तो आपको कुछ रुपए के बिटकॉइन बिल्कुल फ्री में आपके अकाउंट में मिलेंगे .

Conclusion

आज की पोस्ट में हमने आई सी ओ के बारे में जाना और यह भी जाना कि यह कैसे काम करता है आईसीयू और आईपीओ के अंतर के बारे में भी जाना अगर आप क्रिप्टोकरंसी से संबंधित जानकारी चाहते हैं तो हमें फॉलो जरूर करें

2 thoughts on “Initial Coin Offering (ICO) Kya hai ? Kaise kaam krta hai 2022”

Leave a comment

Coinswitch ka istmaal kaise kre jaaniye hindi mein by securehindi. CoinswitchKuber app Kya hai. Coinswitch kuber in hindi 2022 ? Terra Luna Coin ki Binance exchange pr hui vaapsi. Shiba Inu Coin ne le Terra Luna coin ki jgah ? NFT sell purchase krne ke liye best website ?
Coinswitch ka istmaal kaise kre jaaniye hindi mein by securehindi. CoinswitchKuber app Kya hai. Coinswitch kuber in hindi 2022 ? Terra Luna Coin ki Binance exchange pr hui vaapsi. Shiba Inu Coin ne le Terra Luna coin ki jgah ? NFT sell purchase krne ke liye best website ?